जस्टिस सेंटर लियोबेन

0
52

सजा हो तो ऐसी?

आप अपने दिमाग के घोड़े को रफ्तार में दौड़ाइये और बताइये कि यहां दिये गये दृश्य किसका हो सकता है। चित्र देखकर तो आपने यही अनुमान लगाया होगा कि यह चित्र कहीं के शॉपिंग मॉल या किसी फाइव स्टार होटल का होगा लेकिन आप चौंक जाएंगे, जब आपको पता चलेगा कि यह चित्र न तो किसी फाइव स्टार होटल का है और न ही किसी हाई- फाई शॉपिंग मॉल का। चौंक गये न सुनकर, तो आपगी हैरानगी को देते हैं, विराम। यह दृश्य वास्तव में जेल का है। आप सोच रहे होंगे कि भला ऐसा जेल भी कहीं हो सकता है। तो जनाब, वास्तव में दुनिया में कुछ चीज़ें ऐसी है जिसके बारे में सुनकर आप दांतों-तले उंगलियाँ दबा लेते हैं और यह भी ऐसी ही चीज़ों की  फेहरिस्त में शुमार है। यह जेल आस्ट्रिया के स्ट्रीया प्रांत के लियोबेन जि़ले में स्थित है।
 इसका नाम जस्टिस सेंटर लियोबेन है। मशहूर आर्किटेक्ट जोसफ होहैनसिन्न ने इस जेल की डिज़ाइन तैयार किया है। इसे वर्ष 2005 में तैयार किया गया था। इस जेल की परिधि पर दो शिलालेख हैं, जिसमें प्रथम शिलालेख में उत्र्कीर्ण शब्द हैं ”मानव जाति स्वतंत्र पैदा होते हैं  और वे सब बराबर की गरिमा व जीने के  अधिकारी होते हैं.” यह शब्द अमेरिका के स्वतंत्रता के घोषणापत्र से लिया गया है। दूसरे शिलालेख पर उत्र्कीण शब्द हैं ”प्रत्येक व्यक्ति जो अपनी स्वतंत्रता से वंचित है, उसके साथ भी जन्मजात गौरव और सम्मान के साथ मानवीय व्यवहार करना चाहिये”।
इस जेल को यहां स्थित कोर्ट बिल्डिंग के पास ही तार्किक रूप से बनाया गया है। जहां एक तरफ की जि़न्दगी दीवारों से सिमटी है तो दूसरी तरफ जेल से दिख रहा पूरा शहर की जि़न्दगी खुले आसमान में स्वछंद विचरण कर रही है। इस बात की गहराई समझाने के लिहाज से ही इस जेल का निर्माण किया गया है। इसे टाउनशिप योजना के तहत बनाया गया है। वास्तव में इस जेल को बनाने के पीछे एकमात्र ध्येय यह है कि यह न्याय का पैलेस तो नहीं है लेकिन एक आधुनिक और उज्जवल भविष्य की कामना हेतु आम नागरिकों की सेवा में समर्पित है।
इस जेल में कैदियों को ये सभी सुविधाएं दी जाती है, जो आधुनिक युग की मांग है। ‘जस्टिस सेंटर लियोबेन’ में स्पा, जीमखाना, इंडोर कोर्ट, व्यक्तिगत अभिरूची के समान जैसी कई सुविधाएं हैं, जिसे देखकर आप चौंके बिना नहीं रह सकते हैं। इस लग्ज़रीस जेल में 205 कैदियों को रहने की अति उत्तम व्यवस्था है।

LEAVE A REPLY