ऑरंगऊटन अस्पताल

0
65
दुनिया में एक से बढ़कर एक स्थान है। इन स्थानों की अपनी एक अलग ही पहचान और खासियत होती है। इन खासियतों के कारण यह चर्चा के विषय बन जाते हैं। जी, हां हम बात कर रहे हैं मलेशिया स्थित ऑरंगगऊटन अस्पताल की। यह अनोखा अस्पताल देश-विदेश के मीडिया जगत की सुर्खियों में बना रहता है। यहां पर वन्यप्राणी ऑरंगगऊटन का ईलाज किया जाता है। यह पशु यहां के नज़दीक के जंगलों में पाए जाते हैं। इस स्थान को ऑरंगगऊटन आइलैंड भी कहा जाता है। यह जंगल मलेशिया के हृदयस्थली में स्थित है।
यह स्थान पर्यटकों के खास पसंदीदा स्थान बुकिट मेराह लेक टाउन रिजॉर्ट के नाम से विख्यात है। यह अस्पताल ऑरंगगऊटन के बच्चों के ईलाज के लिए प्रसिद्ध बन चुका है। यहां पर बिछड़े, परितक्त और घायल औरंगउटन लाए जाते हैं और इनकी देख-भाल की जाती है। इस परिवार के सदस्यों को यहां समुचित चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराई जाती है। यहां पर ईलाज के लिए 23 यूनिट्स लगायी गयी है।
ऑरंगगऊटन के बच्चों की शारीरिक जांच-पड़ताल करने के लिए सभी तरह की मेडीकल सुविधाएं यहां उपलब्ध हैं।पशु चिकित्सक डॉ.साबापथी धार्मालिंगम का कहना है कि यह सारी सुविधाएं ऑरंगगऊटन जाति को सुरक्षित और फिट रखने के लिए है ताकि वह ज्यादा दिनों तक सुरक्षित और जीवित रह सकें।
इस वन्य प्राणी को बोरनियो के पास इसलिए ये सुविधाएं दी गई है क्योंकि यह स्थान महफूज होने के साथ-साथ उनके आवास स्थान से दूर भी नहीं है। इस साल अप्रैल महीने में यहां पर एक औरंगउटन के बच्चे को लाया गया था। यह बच्चा अपनी मां के द्वारा परितक्त था और उसकी मां उस पर काफी गुस्से में थीं। उसके बाद चिकित्सक दल को जून महीने में ऑरंगगऊटन का एक बच्चा मिला जो करीब 2 पाउंड और 6 औंस का था। पहले तो यह बच्चा औसत वज़न से कम था, ऊपर से श्वास संबन्धि गड़बडिय़ां भी थी।
चिकित्सक दल को इस जून जूनियर को बचाने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। उसके शरीर के तापमान को नियंत्रित रखने के लिए इसे इन्क्यूबेटर पर रखा गया। इस अनोखे अस्पताल के कर्मचारियों पर करीब तीस हज़ार पाउंड खर्चा आता है। इस रकम को यहां स्थित वाइल्ड लाइफ पार्क के दर्शकों के एंट्री फी से प्राप्त किया जाता है। डॉ. साबापथी आगे कहते हैं कि यहां पर ज्यादातर बच्चे जो करीब एक वर्ष के होते हैं, उन्हें इंटेनसीव केयर यूनिट (सघन चिकित्सकीय देख-रेख ईकाई) में रखा जाता है, उसके बाद इन बच्चों को इन्फेंट डेवलपमेंट यूनिट में चिकित्सकीय सुविधाएं दी जाती हैं। ये सारी सुविधाएं उन्हें इसलिए प्रदान की जाती है ताकि उनकी घटती संख्या को बढ़ायी सके क्योंकि मानवीय क्रियाविधि के बढ़ते प्रभाव के कारण उनकी संख्या दिन-प्रति-दिन घटती जा रही है। इन प्राणियों को बेहतर तरीके से चिकित्सकीय सुविधाएं मिले,इसके लिए इस अस्पताल के सभी कर्मचारी अपनी बेहतर सेवा दे रहे हैं।

LEAVE A REPLY