मस्त रिजोर्ट- गुफा रिजोर्ट

0
71

मस्त रिजोर्ट- गुफा रिजोर्ट

यह भारत का पहला गुफा में स्थित रिजॉर्ट है, जो प्रकृति की गोद में एक अनोखे दुनिया की कहानी बयां करता है। आधुनिकता के पुट के साथ एंटीक वस्तुओं, कला और संस्कृति से जुड़कर ‘केव रिजॉर्ट’ पयर्टकों के लिए किसी स्वर्ग से कम नहीं है।

वक्त के साथ बदलती दुनिया में दिन- प्रति -दिन लाइफ स्टाइल बदल रहा है। इस बदलते लाइफ स्टाइल में कुछ न कुछ नया दिखना लाजिमी है। दुनिया भर में लोगों को आकर्षित करने के लिए कंपनियां हर बार कुछ हटकर और नया करना चाहती हैं। इस नयापन से जहां कंपनियों को अपनी आमदनी बढ़ाने का नुस्खा  मिल जाता है, वहीं लोगों को भी उमंग-तरंग में डूबने का एक नया अंदाज़ भी मिलता है। यदि आप एक नए अंदाज़ से रूबरू होना चाहते हैं तो एक बार ज़रुर केव रिजॉर्ट में घूम आइए। यह रिर्जाट गुफा के अंदर बनाया गया है, जो एक नये फ्लैवर और कलेवर से भरपूर है। यह रिर्जाट कर्नाटक के गुहनतारा में स्थित है, जो प्रसिद्ध कनकपूरा के मुख्य मार्ग में स्थित है। यह मेट्रो सिटी बंगलुरु से 22 किमी. दूर है। यहां योगगुरु रविशंकर जी का आर्ट ऑफ लीविंग का आश्रम और कग्गलीपुरा झील भी स्थित है। प्रकृति की गोद में सिमटा यह अनोखा रिजॉर्ट शहरी वातावरण से दूर एकांत में स्थित होने के कारण स्वयं से साक्षात्कार होने का अवसर प्रदान करता है। वहां जाने के लिए ऊबर-खाबर रास्ता आपको एडवेंचरस होने का अहसास भी दिलाता है। प्रकृति प्रदत समान इस रिजॉर्ट का मुख्य संसाधन है, जिसके सहारे इसके निर्माण कार्य को पूरा किया गया है। बांस के सहारे यहां आने-जाने वालों के लिए ब्रिज का निर्माण किया गया है, जो इस रिजॉर्ट में आने- जाने में सुविधाएं प्रदान करता है। रिजॉर्ट को इस तरह डिज़ायन किया गया है कि प्राचीन और आधुनिकता के अनोखा  संगम से थोड़ा बहुत रहस्यमयी सा बन गया है। इन दोनों के स्वरूपों के कारण रिजॉर्ट में बना एम्पिथियेटर एक रोमांचक अनुभव देता है। इस एम्पिथियेटर में प्रकृति के तत्वों का भरपूर समावेश है जो आपको एक अलग दुनिया से रूबरू करबाता है। यहां 700 लोगों की बैठने की क्षमता है। अद्र्धवृत्ताकार के आकार में यह थियेटर घंटी के टोप के समान दिखायी देती है।
 ‘रंगामनदापा’ नाम का यह एम्पिथियेटर स्वर्ग जैसा अनुभूति प्रदान करने में सक्षम है । यहां आकर आपके कदम अपने आप कार्यक्रम से जुड़ जाएंगे, ऐसा हो भी भला क्यों नही, जब माहौल ही कुछ अलग हो। इसके छत को कृत्रिम रूप बनाए गये हैं और इसे पिलर के सहारे मज़बूती प्रदान की गयी है। यहां का वाटरफॉल पानी की दुनिया की एक अलग ही कहानी गढ़ता  है, जिसमें उतरकर आप भी रोमांचित हो सकते हैं। यहां के लोककला और लोकसंस्कृति की झलक आपके मन को मोह लेगी । यहां का कौसिटा का पुल एरिया आपके उत्साह और उमंग को बढ़ाकर आपमें जोश भर देगा। समभोजना के फुड कोर्ट के खान-पान आपको बरबस ही अपनी ओर आकर्षित कर सकता है। व्यजंनों के प्रकार देखकर आप अपने को खाने से रोक नहीं पाएंगे। यहां का वातावरण भी सादगी से पूर्ण है, जिसके कारण आप निश्चिंत होकर खाने का भरपूर आन्नद उठा सकते हैं।
 संवाद रिजॉर्ट का कॉनफ्रेंस रूम है, जहां एक बेहतर माहौल आपके संवाद करने के अंदाज को एक नया अदा देता है। यह संवाद रुम कई महत्वपूर्ण मुद्दों का सलाह-मशविरा का केन्द्र बन चुका है। कॉरपोरेट जगत के दिग्गज, नेता ,अभिनेता कई महत्वपूर्ण बातों का गवाह इस प्रसिद्ध स्थान को बना चुके हैं। शांति से पूर्ण भरा यहां का माहौल इस संवाद की अयादगी में महत्वपूर्ण भी भूमिका निभाता है। यहां करीब 100 लोगों की बैठने की क्षमता है। मस्ती, उमंग और तरंग के बीच मधुशाला का रूप रेखा खींचे तो इस केव रिजॉर्ट का वर्णन अधुरा ही माना जाएगा।
मधुशाला नाम से मशहूर यह स्थान आपको हल्के सुरूर का एक बेहतरीन मौका देता है। मय के प्याले जब साकी अपने कोमल हाथों से पिलाए तो भला किसका मन न मचल उठे। इस रिजॉर्ट में आप थीमपार्क, फनपार्क के कई रोमांचक क्षण का भी आनंद उठा सकते हैं। तो देर किस बात की है, अब आप भी भारत की पहली गुफा रिजॉर्ट के अनोखे और रहस्यमयी दुनिया से मुलाकात कर आइए।

LEAVE A REPLY