कला का बेहतरीन नमूना -टूथपिक सिटी

0
85

आपने अक्सर कई लोगों को देखा होगा कि खाना-खाने के बाद दांत में फंसे अतिरिक्त भोजन के कण को निकालने के लिये दंतखुदनी या टूथपिक  का प्रयोग करते हैं। लेकिन यह टूथपिक भी वक्त की रफ्तार में एक नये क्लेवर और फ्लेवर में नज़र आने लगी  है। यह सुन्दरता की मिसाल गढ़ रही है। आप सोच रहे होंगे कि भला यह टूथपिक और सुन्दरता की दुनिया के बीच क्या संबन्ध हो सकता है। तो ज़नाब कुछ देर के लिये भले ही आप चक्कर में पड़ जायें लेकिन हकीकत है कि साधारण सा दिखने वाला टूथपिक कला का बेहतरीन नमूना पेश कर रही है। इसे सुन्दरता और रचनात्मकता की दुनिया से जोड़ रहे हैं, अमेरिका के कलाकार स्टान मुनरो। 38 वर्षीय इस कलाकार ने अपने धैर्य और लगन से इस छोटी सी चीज़ को अपने हुनर से अनोखे रंग में ढाला है। उन्होंने एक-एक निर्माण में छह-छह महीने का मेहनत से टूथपिक की सहायता से टूथपिक सिटी का निर्माण किया है। यह निर्माण कार्य अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर के म्यूजि़यम ऑफ साइंस एंड टैक्नोलॉजी में किया गया है। इस अनोखे सिटी को बनाने में करीब 60 लाख टूथपिक और 170 लीटर ग्लू का इस्तेमाल किया गया है। दुनिया के जाने-माने स्थानों को इस सिटी में जगह मिली है। इस कार्य को करना दुरूह ही नहीं बल्कि बनाने वाले को असीम धैर्य की ज़रूरत होती है। और स्टान मुनरो ने इस कार्य को फलीभूत करके साबित कर दिया कि वह असीम धैर्य के स्वामी हैं .

Google Image

दुनिया भर के प्रसिद्ध निर्माण को बनाने से पहले स्टान ने काफी रिसर्च किया। उन्होंने इस प्रसिद्ध निर्माणों का सही खाका तैयार करने के लिये इंटरनेट के सहारा लेने के साथ-साथ स्वयं भी तकनीकी रूप से इनके कई पहलुओं को देखा और परखा। एक-एक निर्माण में लगे छह महीने के ज्यादातर समय में स्टान ने रिसर्च पर भी काफी काम किया है। बड़ी-बड़ी बिल्डिंग के निर्माण के समय उन्हें उसकी संरचना को सपोर्ट देने के लिये बहुत भागों को खोखला रूप में भी रखना पड़ा, ताकि निर्माण कार्य को टूथपिक के सहारे बेहतरीन अंदाज में ढाला जा सके।

Google Image

हाल ही में उन्होंने अपने  हुनर, मेहनत, लगन और धैर्य की इस मिसाल को टूथपिक सिटी- II के नाम से एक्जीविशन में दिखाया है। टूथपिक पार्ट-2 में पूरी दुनिया के 40 से ज्यादा धार्मिक और बड़ी-बड़ी बिल्डिंग्स को टूथपीक से बनाकर स्टान ने लोगों को आश्चर्य चकित कर दिया। इस कार्य को करने में उनको  चार साल का समय लगा है ।

LEAVE A REPLY