बागवानी का एबीसी

0
84
gardening-tools-
photo Credit http://farmingtongardens.com

बागवानी आपको प्रकृति की दुनिया से रूबरू कराता है। इसकी दुनिया में उमंग, उत्साह और रोमान्च है। इन सब बातों को अपने अंदर सहेजना चाहते हैं तो बागवानी करना शुरु करें, फिर देखें ये आपके जीवन की बगिया को ये फूलों से कैसे भरता है।

इस बगिया का देखरेख करना सबसे महत्वपूर्ण है क्योंकि बागवानी करना बच्चों को पालने जैसा ही है। नन्हें-नन्हें पौधों को जब आप क्यारी में लगाते हैं तो उस समय वह सिर्फ अल्हड़ बचपना में होता है। इन बच्चों को जबान करने के लिये परिश्रम और लगन की ज़रूरत पड़ती है। जब ये नन्हें-नन्हें पौधे रंग-बिरंगी फूलो से लद जाता है, तब आप इसे देखकर खुशी से झूम उठते हैं। हवा के झोंको के साथ इसका हर एक अंग नृत्य करता है, तो इसे देखकर किसका मन-मयूर नाच न उठे। यहां पर आपको हम बागवानी के कुछ महत्वपूर्ण टिप्स दे रहे हैं। इस टिप्स का बेहतर प्रयोग करें और बागवानी करने का लुत्फ उठायें। आपको अपने गमले लगे नन्हें-नन्हें पौधों की देखभाल करने की ज़रूरत पड़ती है, ऐसी स्थिति में अच्छी बागवानी के लिये गार्डन टूल्स का रखना भी जरूरी हो जाता है।
इन गार्डन के औजारों को बेहतर स्थिति में रखने के लिये निम्न चीज़ों का होना ज़रूरी है। इससे इन टूल्सों का लाइफ स्पान बढ़ जाता है।
1. ज़मीन खुदाई करने वाले औज़ार को जंग से बचाना है तो इसे रेत और तेल से भरी बाल्टी में रखें ।

2. कटाई करने वाले टूल्सों को शार्प करना यानि उन पर धार चढ़ाना हो तो यह काम बड़ी बारिकी से करें क्योंकि टूल्सों के ब्लेड के सिरे पतले होने पर वह आसानी से टूट सकते हैं। अगर इस पर धार चढ़ाने की अपनी क्षमता पर भरोसा नहीं है तो यह काम प्रोफेशनल्स के लिए छोड़ दें। अगर इन टूल्सों पर गलत धार चढ़ जाये तो यह पौधों को भी नुकसान पहुंचा सकते हैं।

3. इन टूल्सों को साफ-सुथरा रखना आसान नहीं होता है। कहाबत है कि आपके गार्डन टूल्स जितने गंदे होते होंगे, उतने ही आप कुशल माली माने जाएंगे। लेकिन वास्तविकता कुछ और है। यदि आप सही मायने में अपने टूल्स की देखभाल करते करके आप काफी पैसे की बचत कर सकते हैं।
4. इन टूल्सों को साफ करने के लिए आपको ग्रीस और कुछ चीज़ों की ज़रूरत होती है, जो ज्यादा महंगा भी नहीं होता है।
5. टूल्स के प्रयोग करने के बाद उसमें लगे मिट्टी को हर बार हटा दें।
6. इन टूल्सों को जमा करने से पहले पहले अपने टूल्स को पूरी तरह से सूखने दें ताकि उन पर जंग न लगे और वह गले नहीं।
7. पुराने सूती के तौलिये रखें, इससे पोछने पर ये टूल्स जल्दी सूखते हैं।
8. टूल्स के धातु वाले हिस्से को तेल लगे कपड़े से अच्छी तरह से साफ कर लें।
9. इस काम को बेहतर तरीके से करने के लिये दूसरे उपकरणों का भी व्यवहार कर सकते हैं, जो किसी हार्डवेयर स्टोर पर मिल सकती है।
10. टूल्सों के ऊपर लगे लकड़ी के हैंडिल पर अलसी का तेल मलें। इससे हैंडिल न सूखेगा न फटेगा।
11. रासायनिक खाद से टूल्स का धातु वाला हिस्सा जल्दी खराब होता है, इसलिए टूल्स को पानी व साबुन से धो लें, फिर सुखायें और तेल लगे कपड़े से रगड़ें।
12. इस्तेमाल में आने वाले टूल्सों की धार तेज़ रखें। चपटी रेती इस मामले में बेहतर प्रदर्शन करती है ,वह टूल्स को तेज़ कर देती है और उसकी क्षमता बढ़ा देती है।
13. टूल्स से जंग हटाने के लिए उसे क्लैम्प से बांध लें और फिर वायर ब्रश, सैंडपेपर और स्टील वूल से साफ करें।
14. जिद्दी जंग को हटाने के लिये तेल का प्रयोग करें।
15. टूल्स के ऊपर लगे लकड़ी के हैंडिल पर रेत-माल फेरने और अलसी का तेल लगाने से उसकी चिकनाहट लौट आती है, जिससे काम करने में आसानी होती है।
16. सभी टूल्सों को धूप में सूखाकर और तेल लगाकर रखें।
17. इसे स्टोर करने से पहले इसकी अच्छी कोटिंग होनी चाहिए।
इन सब बातों को ध्यान में रखकर जहां एक ओर आप अपनी बागवानी खूबसूरती बढ़ाएंगे, वहीं दूसरी ओर ज्यादा श्रम और पैसे की बचत भी होगी।

LEAVE A REPLY