मोदीनगर लोगों के लिए बना पसंदीदा लोकेशन

0
96
Modinagar-residential
https://www.zricks.com/

दिल्ली और नोएडा की तुलना में कम लागत की उपलब्ध भूमि तथा तेज़ी से बढ़ती मांग के कारण मोदीनगर में रियल एस्टेट का विकास बहुत तेजी से हो रहा है। मार्केट का रुझान भी सभी बड़ी रियल एस्टेट कंपनियों की रूचि के कारण तेजी से प्रगति की तरफ है। मोदीनगर में मौजूद दूसरी आधारभूत सुविधाओं और सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ामों के कारण छोटे-बड़े निवेशकों में मकान और प्रॉपर्टी के प्रति अच्छी जागरूकता है।

आधारभूत संरचना संबन्धी विकास कार्य तेजी पर

गाजि़याबाद में स्थित मोदीनगर में आजकल आधारभूत संरचना संबन्धी विकास कार्य तेजी पर चल रहे हैं। केंद्र सरकार ने दिल्ली में आनन्द विहार से मेरठ तक रैपिड रेल के लिए एनसीआरटीसी का गठन करके मोदीनगर के प्रॉपर्टी मार्केट को जबरदस्त बढ़ावा दिया है। स्वयं के उपयोग अथवा निवेश की दृष्टि से मोदीनगर घर, वाणिज्यिक भवन और जमीन खरीदने वाले लोगों का प्रिय स्थान बन गया है। जानकार मानते हैं कि दिल्ली और उसके आसपास अभी विकसित हो रहे एनसीआर क्षेत्र में रियल एस्टेट के दामों में तेजी आने के चलते मिडिल और लोवर मिडिल क्लास के लोगों के लिए प्रॉपर्टी खरीदना मुश्किल हो गया है। ऐसे में गाजियाबाद का मोदीनगर कम लागत के मकान, वाणिज्यिक भवन और जमीन उपलब्ध कराने के लिए प्रसिद्ध होता जा रहा है। एनएच-58 पर स्थित होने के कारण इसका महत्व और भी है। दिल्ली से मेरठ तक के हजारों लोग प्रतिदिन दिल्ली नौकरी-पेशा के लिए आते जाते हैं। मोदीनगर ऐसे लोगों को समय बचाने का एक अवसर तो उपलब्ध कराता ही है, साथ ही गाजि़याबाद में होने के कारण सभी मूलभूत सुविधाओं से भी लैस है।

तेजी से होता रियल एस्टेट का विकास

दिल्ली और नोएडा की तुलना में कम लागत की उपलब्ध भूमि तथा बढ़ती मांग के कारण मोदीनगर में रियल एस्टेट का विकास बहुत तेजी से हो रहा है। मार्केट का रुझान भी सभी बड़ी रियल एस्टेट कंपनियों की रूचि के कारण प्रगति की तरफ है। मोदीनगर में मौजूद दूसरी आधारभूत सुविधाओं और सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ामों के कारण छोटे-बड़े निवेशकों में मकान और प्रॉपर्टी के प्रति अच्छी जागरूकता है। यहां पर एनसीआर में काम कर रही काफी रियल एस्टेट डेवलपर्स और बिल्डर्स के प्रोजेक्ट या तो चल रहे हैं अथवा निकट भविष्य में चलने वाले हैं। औद्योगिक क्षेत्र की घरेलू तथा विदेशी कंपनियों द्वारा इन दिनों टियर- 2 व 3 शहरों की ओर रुख किए जाने के कारण ज़मीन की मांग और कीमतों में तेजी आ रही है। कई रियल स्टेट फर्मों द्वारा इस मांग को देखते हुए ही यहां हाऊसिंग प्रोजेक्ट के साथ टॉउनशिप लाने की भी योजना है।

कनेक्टिविटी

आने वाले समय में मोदीनगर दिल्ली से एनएच-58 के अतिरिक्त दो सुपरफास्ट तरीकों से जुड़ा होगा। एक रैपिड रेल और दूसरा एक्सप्रेस-वे। रैपिड रेल का मोदीनगर में एक स्टॉप होगा और यहां से दिल्ली 20 से 25 मिनट में पहुंचा जा सकेगा। मोदीनगर एनएच-58 पर स्थित है, जो गाजि़याबाद शहर होते हुए दिल्ली पहुंचता है। मेरठ से दिल्ली के लिए बन रहा एक्सप्रेस-वे तैयार हो जाने पर मोदीनगर से दिल्ली की यात्रा 30 मिनट से भी कम में पूरी की जा सकेगी। जाहिर है इस एक्सप्रेस-वे के आ जाने के बाद मोदीनगर के घरों के दामों में तेजी से उछाल आना स्वाभाविक है। भविष्य में होने वाले इस लाभ को देखते हुए ही मोदीनगर वर्तमान में घर खरीदने अथवा निवेश की चाहत रखने वाले लोगों का पसंदीदा स्थान बन गया है।

इतिहास

मोदीनगर की स्थापना वर्ष 1933 में रायबहादुर गूजर मल मोदी ने की थी। यहां पर इनके नाम पर चीनी मिल से उद्योग की शुरुआत हुई। यह स्थान मूल रूप से बेगमाबाद गांव था, जिसका 571 एकड़ भाग वर्तमान समय में इस कस्बे में आता है। बेगमाबाद की स्थापना नवाब ज़ाफर अली ने अपनी एक दिल्ली की बेगम के नाम पर की थी। इसका महत्व व मूल नाम मोदीनगर की औद्योगिक प्रगति के चलते समाप्त सा हो गया है। इसके साथ ही 1939 में कोटोजेम वनस्पति और 1940 में साबुन उद्योग आरंभ किया। इस कंपनी के साबुन में खास बात यह थी, कि अब तक निर्मित साबुनों में चर्बी प्रयोग होती थी, किंतु गूजर मल के निर्देश पर पहली बार वनस्पति से पूर्ण हर्बल साबुन का निर्माण हुआ। उसके बाद यहां 1941 में टिन उद्योग तथा खाद्य पदार्थ उद्योग स्थापित हुए, जिसमें से खाद्य पदार्थों की आपूर्ति भारतीय सेना के लिए की जाती थी।1943 में यहां बिस्कुट फैक्ट्री लगाई गई। 1944 ई. में मोती ऑयल मिल की स्थापना हुई। मोदीनगर में मोदी के उद्योगों में मुख्यत: चीनी, खाद्य तेल, कपड़ा (रेयॉन एवं रेशम सहित), साबुन, पेण्ट-रोगन, वार्निश, लालटेन, ग्लीसरीन, सूती धागे, कार्बन डाइ ऑक्साइड एवं आटा का उत्पादन होता है। रानी बाला बाई सिंधिया द्वारा बनवाया गया एक मंदिर, जो पूर्व बेगमाबाद में आता था, अब मोदीनगर के क्षेत्र में आता है। यह मोदीनगर पुलिस स्टेशन के सामने रुक्मिणी देवी कन्या इंटर कॉलिज के निकट बना हुआ है।

LEAVE A REPLY