कैसे सेट करें वन बीएचके

0
160
Residential-Interior
photo courtesy http://www.archcreativeinteriors.com/

वन रूम सेट में रहना पड़े तो कम जगह की शिकायत करने की बजाय इसे इस ढंग से सजाएं कि सामान भी सेट हो जाए और हर काम के लिए जगह निकल आए। दिल्ली-एनसीआर में ऐसे तमाम परिवार हैं, जिनकी आय इतनी नहीं है कि वे दो कमरों का मकान किराए पर ले सकें। ऐसे में एक कमरे यानि वन रूम सेट में एडजस्ट करना उनके लिए जरूरी हो जाता है। एक बडे से घर की तुलना में एक ही कमरे को सजाना और उसमें कई कामों के लिए जगह का एडजेस्टमेंट करना काफी मुश्किल होता है। उस घर में ड्राइंग रूम, स्टडी रूम और बेडरूम सभी कुछ अलग होता है, लेकिन एक अकेले कमरे में तो आपको इन सारी चीजों के लिए एहतियात से जगह बनानी पड़ेगी। ऐसे में अगर आप कुछ बातों का ध्यान में रखें और कमरे में गैर जरूरी सामान का ढेर न लगाएं तो ये अकेला कमरा भी बेहतर दिख सकता है। अगर आपका स्वभाव पढने लिखने का है तो आप अपने ड्राइंग रूम यानि लिविंग रूम को स्टडी रूम के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।
जगह की परिभाषा समझें
इसके लिए स्टडी टेबल एवं कुर्सी को कमरे के एक किनारे में रखना बेहतर होगा और अगर आप पर्दा में लगाकर कमरे को बंटवारा कर दें तो यह जगह और सुकून भरी हो जाएगी। बडे घरों में आपने देखा होगा कि कई बार गहरे रंगों वाले और भारी फर्नीचर का इस्तेमाल किया जाता है। वहां जगह ज्यादा होने पर वे फबते भी हैं, लेकिन एक कमरे की जगह में ऐसे फर्नीचर ठीक नहीं रहते। इसके लिए हल्का फर्नीचर बेहतर रहता है। भारी फर्नीचर छोटे स्पेस की रूपरेखा को बिगाड़ता है और गाढे रंग के फर्नीचर कमरे को तनावपूर्ण बनाते हैं। कोशिश करें कि कमरे में केवल एक सोफा हो और बाकी कुर्सी, स्टूल आदि हों तो यह अच्छा विकल्प होगा। इन सभी पर अपने मनपसंद रंगों की गद्दियां बिछाएं। कंट्रास्ट पर विशेष ध्यान दें। आपने देखा होगा कि बडे घरों में पेंट कराते समय रंग का चुनाव काफी सोच-समझकर किया जाता है।
रंग का चयन है महत्वपूर्ण
यही हालात एक अकेले कमरे की भी है। इसमें तो दीवारें आपके ज्यादा करीब होती हैं, इसलिए मकान मालिक से बात करके अपने वन रूम सेट में ऐसे रंग से पेंट कराएं, जो आपको सबसे ज्यादा भला लगता हो। फर्नीचर की तरह पेंट के लिए भारी हल्के रंग ही बेहतर होते हैं क्योंकि ये आंखों को चुभते नहीं। अगर आपको पेटिंग्स का शौक है, तो सजावट के लिए दीवारों पर अलग-अलग पेटिंग, वॉल हैंगिग लगा सकते हैं। अकेले कमरे में फोटो फ्रेम, कैंडल्स तथा पोस्टर इसकी कायापलट कर आपको जादुई एहसास देंगे क्योंकि इसमें हर पल आपको खुद को इनके करीब महसूस करेंगे। इसके साथ ही आप अपने घर की खिड़कियों और दरवाजों को नई रूप-रेखा दे सकते हैं। खूबसूरती से सजाई गई खिड़कियां भी वास्तव में कमरे में नई जान फूंक देती हैं। खिडकियों रोशनी और ताजी हवा का स्त्रोत होती हैं, जो अनुकूल पर्यावरण के लिए बेहद जरूरी है।

LEAVE A REPLY