1 अप्रैल से SBI में होगा 5 सहयोगी बैंकों का विलय

0
62

सरकारी गजट नोटिफिकेशन के अनुसार SBI, 1 अप्रैल से अपने पांच सहयोगी बैंकों स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला और स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद को विलय करेगा। इन पांचों बैंकों की पूरी अंडरटेकिंग्स SBI को ट्रांसफर कर दिया जाएगा। इस मर्जर के बाद SBI का साइज और बड़ा हो जाएगा। इससे देश के कुल आउटस्टैंडिंग लोन में SBI की हिस्सेदारी 25 प्रतिशत के करीब पहुंच जाएगी। SBI के पास 23,000 ब्रांच होंगी, जिससे उसका दबदबा देश की बैंकिंग इंडस्ट्री में और बढ़ेगा। इन पांच सहयोगी बैंकों में से स्टेट बैंक ऑफ पटियाला और स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद अनलिस्टेड हैं। SBI के पास स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर के 75 प्रतिशत, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर के 90 फीसदी और स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर के 79 पर्सेंट शेयर हैं। आपको बता दें कि इस महीने की शुरुआत में कैबिनेट ने SBI में पांच सहयोगी बैंकों के विलय को मंजूरी दी थी। केंद्र ने पहले कहा था कि SBI और उसके सहयोगी बैंकों का विलय पब्लिक सेक्टर में कंसॉलिडेशन के जरिये बैंकिंग सेक्टर को मजबूत बनाने की दिशा में बड़ा कदम होगा। इस विलय से पहले साल में 1,000 करोड़ रुपये की बचत का अनुमान है।

LEAVE A REPLY