अपनी जेब के अनुसार करें सफाई

0
94
Cleaning
Google Image

किस प्रकार से आप अपने घर की देखभाल करें और उसकी साफ सफाई से अपने घर का कोना-कोना चमकाए। घर जितना साफ होगा उतनी ही ज्यादा उसमें पॉजिटीविटी होगी और आपको घर में रहने पर एक सकून का अनुभव होगा।

दीवार पर सजी रंगों की दुनिया

घरों को नए अंदाज़ और डिज़ाइन में पेंट करवाने का दौर शुरू हो जाता है। समय के बदलने के साथ-साथ अब लोग डिफरेंट कलर कॉम्बिनेशन और डिज़ाइनिंग पेंट पर खुलकर खर्च करते हैं। इसलिए अब मार्केट में कई प्रकार के अच्छी से अच्छी क्वालिटी के पेंट उपलब्ध हैं, जो आपके घर की रंगत को तो निखारते ही हैं, साथ ही यह इको-फ्रेंडली भी है, जिनका सेहत और वातावरण पर कोई बुरा प्रभाव नहीं पड़ता है। पेंट साल दर साल लोगों की पेंट्स को लेकर पसंद में भी काफी बदलाव आ रहा है। जहां पहले सिम्पल पेंट का चलन था, वही आज ऐसे पेंट्स को पसंद किया जा रहा है, जिन्हें लगाने के बाद घर में ऐसी फिनिश आती है जैसी टाइल्स लगाने के बाद आती है। आप किसी भी पेंट का इस्तेमाल करें  जैसे रॉयल प्ले पेंट। उसके फस्र्ट नॉर्मल पेंट के एक कोट को प्राइमर के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। दूसरा मैटेलिक सिस्टम है, जो इमल्शन का काम करता है। आजकल लोगों के बीच यह ज्यादा पॉपुलर हो रहा है।

वॉशेबल पेंट्स

यह ऐसे पेंट्स है, जिन्हें गंदा होने पर धोकर साफ किया जा सकता है, जिसे एक बार करवाने के बाद आपको कई सालों तक सिर्फ इसे धुलवाने की ज़रूरत होगी। यह आपके घर की दीवारों को बेहद आकर्षक बना देता है। जिससे चार दीवारों के भीतर रखे डेकोरेटिव सामान के साथ आपके घर की रंगत ही निखर जाती है और हर आने वाला मेहमान आपके घर की साफ-सफाई व साज-सज्जा को देखकर इम्प्रेस तो ज़रूर हो ही जाएगा। टेफ्लॉन कोटिंग होने की वजह से यह सब को पसंद भी आता है। इसे रोलर द्वारा पेंट किया जाता है। यह इकोफ्रेंडली होने की वजह से आपके घर के वातावरण के साथ-साथ आस-पास के वातावरण को नुकसान नहीं पहुंचता। यह सभी शेड्स में मार्केट में उपलब्ध होते हैं।

रेडी टू यूज ऑप्शन

दूषित होते वातावरण में हर किसी की डिमांड होती है सेहतमंद होम पेंट की। इसे ध्यान में रखते हुए हानिरहित कम्पाउड मार्केट में आ गए है। अब समय की कमी से हर कोई जूझ रहा हैं, जिस वजह से हर चीज में शॉर्ट कट आजमाया जाता है। इसलिए अब अधिकतर लोग रेडी टू यूज मेटीरियल के इस्तेमाल पर जोर दे रहे हैं। अगर आपको घर पेंट करवाना है तो इसके लिए घंटों बैठकर कलर कॉम्बीनेशन चूनने की माथा-पच्ची से बच सकते है। रेडी यू यूज मेटीरियल और एनवल्प से डिज़ाइनिंग के साथ कलर-कॉम्बीनेशन चुन कर। जो आपका समय तो बचाएंगे ही साथ ही यह झंझट मुक्त भी है।

घर की दीवारें

घर बनता है चार दीवारों से और उस पर किया गया पेंट उसे आकर्षक बनाता है। घर की दीवारें आपके घर की असलियल बयां करती है, इसलिए जितना हो सके इन्हें खूबसूरत तरीके से पेंट करवाना चाहिए। अब वह ज़माना नहीं रह गया जब पूरे घर की दीवारों में एक ही कलर से पेंट करवा दिया जाता था, बदलते समय के साथ इसमें भी बदलाव आया है। अब बच्चों के कमरे में अलग तरीके से, ड्राइंग रूम में अलग किचिन, बैडरूम में अलग तरीके से पेंट किया जा रहा है। साथ ही कुछ लोग तो थीम बेस कलर करवा रहे है, मसलन बेडरूम में प्यार को रिफलेक्ट करता कॉम्बीनेश आदि।

अब हम बता रहे हैं कि आप बिना ज्यादा पैसा खर्च किए कैसे घर की सफाई करें:

नल और दरवाजों के हैंडल्स

घरों में लगे नल और दरवाजों के हैंडल्स अधिकतर काफी गंदे हो जाते है, जो आपके घर की डेकोरेशन में चांद में लगा दाग जैसे प्रतीत होते हैं। इनकी सफाई करने के लिए आप नींबू का प्रयोग करें। नींबू में मौजूद साइट्रिक एसिड न केवल कपड़ों पर लगे दाग छुड़ाने के ही काम आता है, बल्कि इससे स्टील का समान भी बहुत अच्छी तरह से साफ हो जाता है। इसके अलावा पुरानी चीज़ों पर लगे जंग या अन्य जिद्दी दाग को छुड़ाने के लिए बेकिंग सोडा और नींबू सबसे अच्छा ऑप्शन साबित हो सकते हैं। बेकिंग सोडा से बाथरूम व टॉयलेट की दीवारों की भी सफाई की जा सकती है।

लैपटॉप और की-बोर्ड

लैपटॉप और की-बोर्ड की सफाई काफी सजगता से करने की ज़रूरत होती है। क्योंकि जितने भी इलेक्ट्रॉनिक के सामान होते है, उनकी सफाई का तरीका बाकी चीज़ों से डिफरेंट ही होता है। इनकी सफाई के लिए ईयर बड और बेकार पड़ा टूथब्रश बेहद कारगर सामान है, जिनकी मदद से आप की-बोर्ड और लैपटॉप की सफाई आसानी से कर पाएंगे।

बर्तनों की सफार्ई के लिए

बर्तनों की सफाई के लिए आप नींबू का इस्तेमाल कर सकते है। इसके अलावा कभी नमक से बर्तन धोकर देखिएगा, वो नए जैसे चमक उठेंगे। कांसी और तांबे के बर्तनों की सफाई के लिए नींबू और कच्चे आम को पानी में पकाकर पका लेने के बाद उस पानी को स्टोर करके रख लें और इससे बर्तनों की सफाई करें। नमक और नींबू से बर्तन साफ करने के बाद आपको ऐसा लगेगा कि हींग लगे न फीटकरी रंग फिर भी चौखा।

LEAVE A REPLY