शहरी स्थानीय निकायों की क्रेडिट रेटिंग  

0
29
शहरों और कस्बों की क्रेडिट रेटिंग की कवायद के जोर पकड़ते स्मार्ट सिटी मिशन और अटल मिशन फार रिजुवेनेशन एंड अर्बन ट्रांसफार्मेशन (अमृत) में शामिल 500 शहरों में से 94 को ऐसी रेटिंग प्राप्त हुई है, जो संसाधन जुटाने के लिए म्युनिसिपल बांड जारी करने के लिए अनिवार्य है। शहरी विकास मंत्री एम. वेंकैया नायडू द्वारा शुरू की गई क्रेडिट रेटिंग कवायद की प्रगति की समीक्षा के दौरान पता चला कि इन में से 55 शहरों को ‘निवेश ग्रेड’ की रेटिंग प्राप्त हुई है। श्री नायडू ने बताया कि 55 प्रतिशत शहरों को निवेश ग्रेडिंग रेटिंग के रूप में मूल्यांकित किया गया है। देश में शहरी स्थानीय निकायों की वित्तीय स्थिति के बारे में जैसा सोचा जा रहा था, उससे उनकी रेटिंग बेहतर रही है।

क्रेडिट रेटिंग प्रदान किए गए 94 शहर 14 राज्यों में फैले हैं। शहरी विकास मंत्रालय 5 परिवर्तनकारी सुधारों में से एक के रूप में शहरों की क्रेडिट रेटिंग को बढ़ावा दे रहा है, जिसके अंतर्गत इस वर्ष के दौरान करीब 500 शहरों और कस्बों को क्रेडिट रेटिंग प्रदान की जानी है। इन शहरों में देश की कुल शहरी आबादी का करीब 65 प्रतिशत हिस्सा रहता है।

एएए से डी तक कुल 20 रेटिंग्स में से बीबीबी- रेटिंग को ‘निवेश ग्रेड रेटिंग’ समझा गया है। बीबीबी- से नीचे रेटिंग वाले शहरों को म्युनिसिपल बांड जारी करने के लिए अपेक्षित रेटिंग हासिल करने के प्रयास करने होंगे और अपनी रेटिंग में सुधार लाना होगा।

क्रेडिट रेटिंग स्थानीय शहरी निकायों की परिसम्पत्तियों और देयताओं, राजस्व स्रोतों, पूंजी निवेश के लिए उपलब्ध संसाधनों, डबल एंट्री अकाउंटिंग प्रैक्टिस और अन्य शासन पद्धतियों के आधार पर दी जाती हैं। शहरी स्थानीय निकायों की क्रेडिट रेटिंग के अलावा उन परियोजनाओं की अलग अलग रेटिंग भी ऐसे बांड जारी करने के लिए महत्व रखती है, जिनके लिए म्युनिसिपल बांड के जरिए संसाधन जुटाए जाने हैं।

क्रेडिट रेटिंग शहर/कस्बे
एए+ (3) नई दिल्ली म्युनिसिपल काउंसिल (एनडीएमसी), नवी मुम्बई और पुणे
एए (3) अहमदबाद, विशाखापट्टनम और ग्रेटर हैदराबाद म्युनिसिपल कार्पोरेशन
एए (4) सूरत, नाशिक, ठाणे और पिम्परी चिंचवाड़
(5) इंदौर, किशनगंज (राजस्थान), कोलकाता, वडोदरा (गुजरात) और वारंगल (तेलंगाना)
ए (1) झुंझुनू (राजस्थान)
(8) अलवर, भिवाड़ी, ब्यावर, जयपुर (राजस्थान), भोपाल, जबलपुर (मध्य प्रदेश), मीरा भायंदर (महाराष्ट्र) और न्यू टाउन राजारहाट (पश्चिम बंगाल)
बीबीबी(5) अजमेर, कोटा और उदयपुर (राजस्थान), लुधियाना (पंजाब) और जामनगर (गुजरात)
बीबीबी(14) काकीनाडा, अनंतपुर, कुरनूल और तिरुपति (आंध्र प्रदेश), दावणगेरे और हुबली-धारवाड़ (कर्नाटक), कोच्चि और तिरुवनंतपुरम (केरल), पणजी (गोआ), कोल्हापुर और नागपुर (महाराष्ट्र), जोधपुर, नागौर और टोंक (राजस्थान)
बीबीबी (12) अमरावती (महाराष्ट्र), बेलगावी (कर्नाटक), भड़ूच और भावनगर (गुजरात), भरतपुर, भीलवाड़ा, बीकानेर और हनुमानगढ़ (राजस्थान), चित्तूर और कड़प्पा (आंध्र प्रदेश), कटक (ओडिसा), रांची (झारखंड)
बीबी+ (14) प्रोद्दातूर, नांदियाल और नेल्लौर (आंध्र प्रदेश). कोल्लम और कोझिकोड (केरल), कलोल, नडियाड और नवसारी (गुजरात), नांदेड़, शोलापुर (महाराष्ट्र), गंगापुर सिटी, धौरपुर, पाली और सवाई माधोपुर (राजस्थान)
बीबी (14) अडोनी और टाडीपत्री (आंध्र प्रदेश), द्वारका (गुजरात), आयजोल (मिजोरम), त्रिशूर (केरल). बहरामपुर, राउरकेला और संभलपुर (ओडिसा), बूंदी, चुरू, चितौड़गढ़, हिंदौन, जोधपुर और सुजानगढ़ (राजस्थान)
बीबी (7) आदित्यपुर, चास, देवघर और गिरिडिह (झारखंड), मोरी (गुजरात), बारन और झालावाड़ (राजस्थान)
बी+ (3) बारीपदा और पुरी (ओडिसा) और हजारीबाग (झारखंड)
बी (1) भद्रक (ओडिसा)

LEAVE A REPLY