वास्तु के मुताबिक दुकान में कहां क्या रखें?

0
68
maxresdefault (2)
Third Party Image

शैलेश प्रताप शास्त्री

वास्तु के मुताबिक दुकान में कहां क्या रखें?

– दुकान व प्रतिष्ठान का हर कोण बराबर हो अपूर्ण या कटा नहीं होना चाहिए।

– आग्नेय कोण में ही बिज़ली का मीटर आदि स्थापित करें।

– ईशान कोण में लक्ष्मी-गणेश का मंदिर स्थापित करें।

– नैत्य में पूर्व या उत्तर की ओर भारी सामान और बड़े शोकेस रखें।

– संभव हो तो नैत्य में ही मालिक (स्वामी) का काउंटर रखे।

– मालिक/ स्वामी काउंटर पर पूर्व या उत्तर मुखी होकर बैठें।

– आग्नेय में कदापि न बैठें। मस्तिष्क में हमेशा क्रोध और तनाव भरा रहेगा।

– पश्चिम की ओर बैठना पड़े तो नैत्य की एज लेकर ही काउंटर लाए।

– वायव्य में मुख्य काउंटर न लाए। न ही यहां कैश बॉक्स रखें।

– कैश बॉक्स नैत्य की ओर उत्तर की तरफ मुख करके लाएं।

– मध्य भाग खाली रखें और इस बात को ध्यान में रखे।

– रंगों औैर डिजाइनों का चुनाव ग्रहों के अनुसार करें।

– हरे व हल्के शोकेस क्रमश: सूर्य व चन्द्रमा के स्थान पर लाए।

– शनि की वस्तुओं का शोकेस दक्षिण की दीवार से ला कर (थोड़ा हटकर) होना चाहिए।

– वायव्य में ज्वलशील, आग्नेय में गैसीय, ईशान में अग्नि गुण व भारी वाले और नैत्य में वायु-जल व अग्नि से युक्त पदार्थ न रखे।

 

LEAVE A REPLY