अगस्त से ऑनलाइन मिलेगा कंस्ट्रक्शन परमिट

0
40

निर्माण की दुनिया को एक बेहतर अंदाज में लाने के लिए सरकार शहरों में बिल्डिंग प्‍लान को अप्रूव कराने के लिए ऑनलाइन परमिट देने की बात कही है। अगस्‍त -2017, 10 लाख से अधिक आबादी वाले 51 शहरों में बिल्डिंग प्‍लान अप्रूव को लेकर नहीं भटकना होगा। मोदी सरकार इन शहरों में ऑनलाइन कंस्‍ट्रक्‍शन परमिट सर्विस शुरू की जाएगी। इसे लेकर मंत्रालय जोरशोर से तैयारी कर ली है। रिपोर्ट के अनुसार सरकार ने एक उच्‍च स्‍तरीय बैठक में सभी शहरों की नगर निगमों से कहा है कि वे अगस्‍त तक सारी तैयारी कर लें।
आपको बता दें कि वर्ल्‍ड कंस्‍ट्रक्‍शन परमिट के मामले में भारत की रैंकिंग 185वीं थी। वर्ल्‍ड बैंक की ईज ऑफ डुइंग बिजनेस रिपोर्ट के अनुसार कंस्‍ट्रक्‍शन परमिट लेने में जहां मुंबई में 164 दिन लगते हैं, वहीं दिल्‍ली में 231 दिन का समय खप जाता है। सरकार कंस्‍ट्रक्‍शन परमिट को ऑनलाइन करने की कवायद मुंबई-दिल्‍ली में शुरु की है। मुंबई और दिल्‍ली में ऑनलाइन कंस्‍ट्रक्‍शन परमिट की प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी है। ये अलग बात है कि दिल्‍ली में यह पूरी तरह से कार्यशील नहीं है। यहां के साउथ दिल्‍ली नगर निगम में ही बिल्डिंग प्लान की प्रक्रिया ऑनलाइन हो रही है। ईस्ट और नॉर्थ दिल्‍ली में इसकी तैयारी चल रही है। खबरों के मुताबिक साउथ दिल्‍ली में अब तक 12 हजार से अधिक बिल्डिंग प्‍लान को ऑनलाइन अप्रूवल्‍स मिली हैं।
दिल्‍ली-मुंबई के अलावे कोलकाता, , वाराणसी, मेरठ, फरीदाबाद, राजकोट, जमशेदपुर, श्रीनगर, जबलपुर, आसानसोल, वसाई-विरार, इलाहाबाद, चैन्‍नई, बंगलुरू, हैदाराबाद, अहमदाबाद, पुणे, सूरत, जयपुर, कानपुर, लखनऊ, नागपुर, गाजियाबाद, इंदौर, कोयम्‍बटूर, कोची, पटना, कोजीकोडी, भोपाल, त्रिसूर, बड़ोदरा, आगरा, विशाखापट्टनम, मलापपुरम, तिरुवनंतपुरम, लुधियाना, कन्‍नूर, नासिक, विजयवाड़ा, मदुरैई, धनबाद, औरंगाबाद, अमृतसर, जोधपुर, रांची, रायपुर, कोलम, ग्‍वालियर, दुर्ग-भिलाई नगर, चंडीगढ़, तिरुचिरापल्‍ली और कोटा में भी ये प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

LEAVE A REPLY