टर्निंग टोरसो एक अनोखी बिल्डिंग

0
134
Turning-torso-buildings-malmo
Image Courtesy https://www.designingbuildings.co.uk
बिल्डिंग की दुनिया में कुछ ऐसी बातें भी होती है, जिसे जानकर आप आश्चर्यचकित रह जाएंगे। इसकी निराली दुनिया में रंग-रूप अजीब है। कहीं पर उल्टी है, तो कहीं पर सीधी, है कहीं पर टेढ़ी-मेढ़ी। स्वरूप और संरचना के बारे में सिर्फ इतना कहा जा सकता है कि इसके बदलते स्वरूप में भौगोलिक, सांस्कृतिक प्रभाव ने भी कम रंग नहीं जमाया है। इस प्रकार के विचित्रता से भरपूर होने के कारण इस प्रकार की बिल्डिंग को प्रसिद्धी भी कम नहीं मिलती है। यहां पर हम एक ऐसी बिल्डिंग की जिक्र करने जा रहे हैं,जो काफी हद तक कंपनी या ग्रुप को परिभाषित कर देती है। 
 एक परिचय  
  • स्थान- मालमो, स्वीडेन 
  • स्टेटस-कम्पलीट
  • शिलान्यास- 14 फरवरी, 2001
  • निर्माण कार्य-वर्ष 2001-2006 
  • उपयोग-रेसीडेंशल
  • छत की ऊंचाई- 190 मीटर
  • तकनीकी वर्णन
  • फ्लोर-54
  • आर्किटेक्ट्स- सैंटिगो कालाट्रावा
  • कांटैक्टर-एनसीसी
ऊपर दिये गये चित्र प्रसिद्ध बिल्डिंग एचएसबी टर्निंग टोरसो का है। यह बिल्डिंग मालमो स्वीडेन में स्थित है। यह स्थान स्वीडेन ऑरसंड के नाम से प्रसिद्ध है। वस्तुत: यह जलडमरूमध्य में है, जो डेनमार्क के जीआइलैंड और स्वीडेन के स्कैनिया प्रांत को अलग करता है। आइलैंड की चौड़ाई करीब 4 किमी. तक है, जो एल्निसनोरे,डेनमार्क, हेल्सिंग्बोर्ग और स्वीडेन का सबसे संर्कीण भाग है। इस भाग पर स्वीडेन और डेनमार्क के करीब 4 लाख लोगों की आबादी बसती है।  ऑरसुंड कात्तेगट और स्कार्गेरक और नॉर्थ सी के सहारे बाल्टिक सागर से जुड़ता है। यह स्थान विश्व का सबसे व्यस्तम जलमार्गो में से एक है। टर्निंग टोरसो बिल्डिंग का डिज़ाइन प्रसिद्ध वास्तुकार सैंटिगो कालावात्रा ने तैयार की । इसे 27 अगस्त, 2005 में ऑफिशियली रूप से खोल दिया गया। बिल्डिंग की ऊंचाई करीब 190 मीटर है और इसमें 54 फ्लोरर्स हैं। इसे बनाने के समय तक यह स्कैंडीविनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग थी।
 Google Image
यूरोपिय यूनीयन के देशों में सबसे ऊंची रेसीडेंशल बिल्डिंग होने का गौरव इसे प्राप्त है। जब मास्को में 264 मीटर बिल्डिंग का निर्माण हो गया तो यह यूरोप में ऊंचाई के मामले में दूसरे स्थान पर पहुंच गयी। इसी प्रकार की गगनचुम्बी बिल्डिंग दुबई और संयुक्त अरब अमीरात में भी बनायी जा रही है। इस प्रकार की बिल्डिंग को 90 डिग्री लम्ब के मोड़ जैसी विशेषता लिए होती है।  इसी  प्रकार का निर्माण दुबई के इंफिनिटी टॉवर में की जा रही है। इससे पूर्व इस सिटी की सबसे ऊंची बिल्डिंग क्रोप्रिन्सेन बिल्डिंग थी, जो 86 मीटर ऊंची थी। इसका डिज़ाइन शिल्पकृति पर आधारित है, जो ट्विस्टिंग टोरसो नामक संगमरमर से काफी प्रभावित था। वास्तुकार कालाट्रावा इस संगमरमर के रूप को मानव जीवन के बेहतर लाइफ स्टाइल को दर्शाता है।  इसके निर्माण के पीछे एक कहानी भी है। हुआ यूं कि इस स्थान पर वर्ष  2001 में यूरोपियन हाउसिंग एक्जीविशन Bo01  लगा था। वास्तुकार कालाट्रावा को एक्जीविशन को अस्थायी रूप से एक पवैलियन का डिज़ाइन तैयार करने को कहा गया था।  उसी समय एक्जीविशन के साइट पर एक गगनचुम्बी बिल्डिंग बनाने की बात चल रही थी। इस प्रस्ताव को लेकर जो बात चली, वहीं से बिल्डिंग के कॉन्सेप्ट की नींव पड़ी। इसका निर्माण कार्य वर्ष 2001 में शुरू किया गया। निर्माण के समय एक महत्वपूर्ण बात यह थी कि जब तक यहां स्थित कोक्कुमस क्रेन को हटा नहीं दिया जाय तब तक इस गगनचुम्बी बिल्डिंग की चमक फिकी रहने की संभावना थी। यह क्रेन टर्निंग टोरसो के 1 किमी. से कम दूरी पर स्थित था। बाद में क्रेन को 2002 में हटा दिया गया। इस बात पर स्थानीय नेताओं का मानना था कि यह क्रेन माल्मो के प्रतीक के रूप में है। देखा भी जाय तो इस क्रेन का उपयोग जहाज निर्माण के लिए किया जाता रहा था और इस प्रकार का कार्य कुछ हद तक शहर के नीले कॉलर के जड़ों का प्रतीक था। बिल्डिंग का निर्माण 9 भागों में बांटकर किया गया था। बिल्डिंग की फाइव स्टोरी पेंटागन को ऊपर बढ़ाने के साथ मोड़ा भी गया। इसके सबसे ऊपर के भाग को दक्षिणावर्त  (क्लॉकवाइज) 90 डिग्री के अंश पर मोड़ा गया, जो उसके ग्राउंड फ्लोर के अनुरूप था।
Google Image
इसका प्रत्येक फ्लोर अनियमित रूप से पेंटागोनल  आकार में है, जो उसके लम्बत कोर के चारों ओर घुमता है।  इस कार्य में बिल्डिंग में लगी बाहरी स्टील फ्रेमवर्क सहायता करता है। बिल्डिंग के निचले भाग ऑफिस स्पेस पर मज़बूती से जुड़ा हुआ है। बिल्डिंग के 3 से लेकर 9 भागों के मध्य 147 लग्जूरियस अपार्टमेंट्स स्थित है। टर्निंग टोरसो प्राइवेट रेसीडेंशल बिल्डिंग है। इसके निर्माण को डिसकवरी चैनल ने एक्ट्रीम इंजीनियरिंग के प्रोग्राम में दिखाया गया है। इस प्रोग्रोम में बिल्डिंग के फ्लोरर्स के निर्माण को एक नये क्लेवर और फ्लैवर में दिखाया गया था।  इस प्रोग्रोम के बाद बिल्डिंग की लोकप्रियता में चार-चांद लग गया है। इस प्रसिद्ध बिल्डिंग से 18 अगस्त, 2006 में आस्ट्रेलिया के स्काईड्राइवर फेलिक्स बौम्गार्तनेर ने पैराशुट के सहारे जम्प भी किया था। यह बात दुनिया भर के मीडिया जगत में सुर्खियां बनी।

LEAVE A REPLY