स्टांप शुल्क में राहत से सस्ता हुआ फ्लैट

0
31

राकेश यादव, सीएमडी, अंतरिक्ष इंडिया ग्रुप

देश के बड़े प्रॉपर्टी में से एक नोएडा में घर खरीदने का सपना देख रहे लोगों के पास घर खरीदने का सुनहरा मौका निबंधन विभाग ने दिया है। विभाग ने फ्लैट खरीदारों बड़ी राहत देते हुए कॉमन सुविधाओं के नाम पर लगने वाला अतिरिक्त चार्ज में कटौती की है। इससे घर खरीदने को लगने वाले स्‍टांप शुल्क में बड़ी कमी आएगी। इसका फायदा उठाकर नए खरीददार कम बजट में मनपसंद फ्लैट खरीद पाएंगे।

इस तरह दी गई है राहत

अगर कोई खरीददार फ्लैट खरीदता है और उसकी रजिस्ट्री कराता है तो उसे सिर्फ तीन कॉमन सुविधाओं का ही शुल्क 2-2 फीसदी देना होगा। अभी तक पांच सुविधाओं के लिए 3-3 फीसदी शुल्क देना पड़ता था। नए नियम के तहत पावर बैकअप और लिफ्ट को लग्जरी सुविधाओं की सूची से बाहर कर दिया गया है। साथ ही क्लब, स्वीमिंग पूल और जिम जैसी लग्जरी सुविधाओं पर लगना वाला सरचार्ज भी घटाकर 2-2 फीसदी कर दिया है। इस तरह अतिरिक्त चार्ज को 15 फीसदी से घटाकर 6 फीसदी हो गया है।

ऐसे समझें कितनी होगी बचत

यदि किसी सोसायटी में 30 लाख रुपये में 2 बीएचके का फ्लैट खरीदते हैं। साथ ही जिम, लिफ्ट, क्लब, पावर बैकअप व स्विमिंग पूल की भी सुविधा लेते हैं तो आपको कुल कीमत पर 5 फीसदी स्टांप डयूटी और 5 विशेष सुविधाओं के लिए 15 फीसदी शुल्क यानी 4 लाख 50 हजार रुपये लग्जरी सरचार्ज के रूप में जमा कराने पड़ते थे। अब पावर बैक अप और लिफ्ट लग्जरी लिस्ट से बाहर कर दिया है। साथ ही जिम, क्लब और स्वीमिंग पूल पर सरचार्ज 3 फीसदी के बजाय 2 फीसदी कर दिया है। ऐसे में आपको डेढ़ लाख रुपये स्टांप डयूटी के अलावा केवल 1 लाख 80 हजार रुपये लग्जरी सरचार्ज के रूप में जमा कराने पड़ेंगे यानी आपको करीब 3 लाख रुपये की बचत होगी।

कॉमर्शियल प्रॉपर्टी भी हुई सस्ती

कॉमर्शियल प्रॉपर्टी खरीदना भी सस्ता हो गया है। अब तक ग्राउंड फ्लोर की दुकान खरीदने पर अब तक कुल तय की गई कीमत पर 5 फीसदी स्टांप डयूटी देनी पड़ती थी, लेकिन नए नियम के तहत की 85 फीसदी धनराशि पर ही 5 फीसदी स्टांप डयूटी देनी होगी। उदाहरण के लिए 1 करोड़ की दुकान पर अब केवल 85 लाख रुपये पर ही स्टांप डयूटी देनी होगी। इससे भी खरीददारों को लाखों रुपये का फायदा हो जाएगा।

प्रॉपर्टी बाज़ार में लौटेगी तेजी

एक ओर जहां प्रॉपर्टी की कीमतें स्थिर हैं और रेडी टू मूव प्रॉपर्टी के ऑप्शन अंडर कंस्ट्रक्शन की कीमत पर उपलब्ध है तो दूसरी ओर निबंधन विभाग की ओर से अतिरिक्त शुल्क में कटौती से नोएडा के प्रॉपर्टी बाजार में तेजी लौटाने में अहम रोल अदा करेगा। मेरा मानना है कि त्योहारी सीजन से पहले यह फैसला इस सेक्टर के लिए टॉनिक का काम करेगा।

LEAVE A REPLY